2 कुरिन्थियों 6:5

5मार खाते हुए, बन्दीगृहों में रहते हुए, अशांति के बीच, परिश्रम करते हुए, रातों-रात पलक भी न झपका कर, भूखे रह कर

Share this Verse:

FREE!

One App.
1550 Languages.

Learn More