मतà¥Âà¤¤à¥€~ 5:45

45काहेकि सरगे मँ बसइया आपन परमपिता क संतान होइ सका। उ सूरज क प्रकास बुरा अउर भला सब पइ चमकावत ह। उ पापी अउर धर्मी सब पइ बसकाला मँ पानी बरसावत ह।

Share this Verse:

FREE!

One App.
1002 Languages.

Learn More