मतà¥Âà¤¤à¥€~ 1

1इ ईसू मसीह क बंसज बृच्छ अहइ। इब्राहीम क बंसज दाऊद क पूत ईसू मसीह अहइ। 2इब्राहीम क बेटवा इसहाक। इसहाक क बेटवा याकूब। याकूब क बेटवन यहूदा अउर ओकर भाइयन। 3यहूदा क बेटवन फिरिस अउर जोरह। (ओनकर महतारी तामार।) फिरिस क बेटवा हिस्रोन। हिस्रोन क बेटवा एराम। 4एराम क बेटवा अम्मीनादाब। अम्मीनादाब क बेटवा नहसोन। नहसोन क बेटवा सलमोन। 5सलमोन क बेटवा बोअज। (बोअज की महतारी राहब।) बोअज क बेटवा ओबेद। (ओबेद की महतारी रूथ।) ओबेद क बेटवा यिसै। 6यिसै क बेटवा दाऊद राजा। दाऊद क बेटवा सुलैमान। (सुलैमान की महतारी उरिय्याह क पत्नी।) 7सुलैमान क बेटवा रहबाम। रहबाम क बेटवा अबिय्याह। अबिय्याह क बेटवा आसा। 8आसा क बेटवा यहोसाफात। यहोसाफात क बेटवा योराम। योराम क बेटवा उज्जियाह। 9उज्जियाह क बेटवा योताम। योताम क बेटवा आहाज। आहाज क बेटवा हिजकियाह। 10हिजकियाह क बेटवा मनस्से। मनस्से क बेटवा आमोन। आमोन क बेटवा योसिय्याह। 11योसिय्याह क बेटवन यकुन्याह अउर ओकर भाइयन। (इस्राएल क मनइयन क कइदी बनाइ के बेबीलोनलइ जात क समइउ दुइनउँ जनमेन।) 12बेबीलोन मँ लइ जाए क पाछे: यकुन्याह क बेटवा सालतिएल। सालतिएल क बेटवा जरुब्बाबिल। 13जरुब्बाबिल क बेटवा अबीहूद। अबीहूद क बेटवा इल्याकीम। इल्याकीम क बेटवा अजोर। 14अजोर क बेटवा सदोक। सदोक क बेटवा अखीम। अखीम क बेटवा इलीहूद। 15इलीहूद क बेटवा एलीआजर। एलीआजर क बेटवा मत्तान। मत्तान क बेटवा याकूब। 16याकूब क बेटवा यूसुफ। यूसुफ मरियम क पति। ईसू क महतारी मरियम। ईसू मसीह कहा गवा। 17इ तहर इब्राहीम स दाऊद ताई चउदह पीढ़ी बीत गइन। अउर दाऊद स लइके कइदी बनाइके बेबीलोन पठए जाइ तलक चउदह पीढ़ी। अउर कइदी बनाइ के बेबीलोन पठए जाइ स मसीह क जनम ताईं चउदह पीढ़ी अउर भइन। 18ईसू मसीह क जनम इ तरह भवा: जब ओकर महतारी मरियम क यूसुफ क साथ बरिच्छा भइ तउ बियाहे स पहिले ही पता लगि गवा कि उ पवित्तर आतिमा क सक्ति स ओकर गोड़ भारी होइ ग। 19मुला होइवाला ओकर भतार यूसुफ एक ठु बढ़िया मनई रहा। उ इ बात क खोलिके बतावइ स बदनाम नाहीं होइ चाहत रहा। तउ उ मने मँ ठान लिहेस कि उ बरिच्छा क चुप्पे स पक्का न होइ दे। 20फिन जबहिं उ इ बारे मँ सोचत रहा कि उ सपने मँ आपन समन्वा पर्भू क दूत परगट होत ओसे कहेस, “हे यूसुफ, दाऊद क बेटवा, मरियम क पत्नी बनवइ स जिन डेरआ काहेकि जउन बचवा ओकरे गरभ मँ अहइ, उ पवित्तर आतिमा क अहइ। 21उ एक पूत क जनमी। तू ओकर नाउँ ईसू धार्‌या काहेकि उ आपन मनइयन क पापन स उद्धार देई।” 22इ सब कछू इ बरे भवा ह कि पर्भू नबी स जउन कछू कहवाएस, पूरा होइ: 23“सुना, कुँआरी कन्या गोड़े स भारी होइके एक बेटवा क जनमी। ओकर नाउँ इम्मानुएल रक्खा जाई।” (जेकर अरथ अहइ, “परमेस्सर हमरे लगे बाटइ।”) 24जब यूसुफ नींदे स जागि गवा तउ उ उहइ किहेस जउन जेका करइ क पर्भू क दूत ओका हुकुम दिहेस। उ मरियम क बियाही के आपन घरे लइ आइ। 25मुला उ जब ताईं उ पूत क जनम नाहीं दिहेस तब ताईं यूसुफ ओकरे लगे सोएस नाहीं। यूसुफ बेटवा क नाउँ ईसू राखेस।

will be added

X\