पà¥Âà¤°à¥‡à¤°à¤¿à¤¤à¤¨ क काम 17

1फिर अम्फिपुलिस अउर अपुल्लोनिया क सफर पूरा कइके उ पचे थिस्सलुनीके पहोंच गएऩ। हुवाँ यहूदियन क एक आराधनालय रहा। 2आपन साधारण सुभाव क अनुसार पौलुस ओनके लगे गवा अउर तीन सबित क दिन तलक ओनकइ संग सास्तरन प बिचार क लेन-देन करत रहा। 3अउर सास्तरन स लइके ओनका समझावत भवा इ सिद्ध करत रहा कि मसीह क यातनाइँ झेलइ क रहा अउर फिन ओका मरा भवन मँ स जी उठब रहा। उ कहत, “इ ईसू ही, जेकर मइँ तोहार बीच प्रचार करत हउँ, मसीह अहइ।” 4ओहमाँ स कछू जउन ओकरे मते स मेल खाएन, पौलुस अउर सीलास क मत मँ सामिल होइ गएन। परमेस्सर स डेराइवालन अगिनती यूनानी भी ओहमाँ मिलि गहन। एहमाँ ढेर खास खास स्त्रियन भी मिलि गएन। 5मुला यहूदी तउ डाह मँ जरत भूँजत रहेन। उ पचे कछू बाजारू जुण्डन क बटोरेन अउर एक मजमा बनइके सहर मँ दंगा कराइ दिहेन। उ पचे यासोन क घर मँ धावा बोल दिहेन। अउर इ जतन करइ लागेन कि कउनो तरह पौलुस अउर सीलास क मनइयन क समन्वा लइ आवइँ। 6मुला जब उ पचे ओनका नाहीं पाइ सकेन तउ यासोन क अउर कछू दूसर भाइयन क सहर क अधिकारी क समन्वा घेर्राइ के लइ आएन। उ पचे चिचियानेन, “इ मनइयन जउन सारी दुनिया मँ उथर पुथर मचाए बाटेन अब उ पचे हियाँ आइ अहइँ। 7अउर यासोन सम्मान क संग ओऩका आपन घरवा मँ ठहराए बा। अउर उ पचे सबहिं कैसर क आदेसन क खिलाप काम करत बाटेन। अउर कहत हीं एक राजा अउर अहइ जेकर नाउँ अहइ ईसू।” 8जब भीड़ अउर सहर क अधिकारी इ सुनेन तउ उ पचे भड़केन। 9अउर इ तरह उ पचे यासोन अउर दूसर मनइयन क जमानती मुचलका लइके छोड़ दिहेन। 10फिन तुरंतहि रातउ रात पौलुस अउर सीलास क बिरीया पठइ दिहेन। हुवाँ पहुँचिके उ सबइ यहूदी, आराधनालय मँ गएन। 11इ पचे थिस्सलुनीके क मनइयन स जिआदा नीक रहेन। इ मनइयन पूरा चित्त लगाइके बचन क सुनेन अउर हर दिन सास्तरन क उलटत पलटत भएऩ जाँच करत रहेन कि पौलुस जउन बातन क बताएस ह, का उ बातन फुर अहइँ। 12एकरे कारण बहोत स यहूदी लोग अउर खास खास यूनानी स्त्री-पुरुसन भी बिसवास धरेन। 13मुला जब थिस्सलुनिके क यहूदियन क इ पता लाग कि पौलुस बिरीया मँ भी परमेस्सर क बचन क प्रचार करत बाटइ तउ उ पचे हुवँई आइ धमकेन। अउर हुवाँ भी गल्बा करइ अउर मनइयन क हुस्कावइ सुरू कइ दिहन। 14यह बरे तबहिं भाइयन तुरंत पौलुस क समुद्दर क किनारे जाइ क पठएन। मुला सीलास अउर तीमुथियुस हुवइँ ठहरा रहेन। 15पौलुस क लइ जाइवालन मनइयन ओका एथेंस पहुँचाइ दिहेन अउर सीलास अउर तीमुथियुस बरे इ हुकुम दइके कि उ पचे हाली स ओकरे लगे आइ जाइँ, हुवाँ स चल दिहेन। 16पौलुस एथेंस मँ तीमुथियुस अउर सीलास क जोहत भए सहर क मूरत स भरा भवा लखिके मन ही मने मँ तिलमिलात रहा। 17यह बरे हर रोज आराधनालय मँ यहूदियन अउर यूनानी भगतन जउन असली भगवान का पूजत रहेन स बहस-मुबाहसा करत रहा। हुवाँ बजार-हाट मँ जउन कउनो होत उ ओहसे भी हर रोज तर्क करत रहत। 18कछू इपीकूरी अउर स्तोईकी दर्सन क ग्यानी भी ओसे सास्तार्थ करइ लागेन। ओहमाँ स कछू कहेन, “इ अंटसंट बोलवइया कहब क चाहत ह?” दूसर लोग कहेन, “इ तउ बिदेसी देवतन क प्रचारक जान पड़त ह।” उ पचे इ यह बरे कहे रहेन कि उ ईसू क बारे मँ उपदेस देत रहा अउर ओकरे फिन स जी उठइ क प्रचार करत रहा। 19उ पचे ओका धइके अरियुपगुस क सभा मँ आपन संग लइ गएऩ अउर बोलेन, “का हम जान सक्ति ह कि तू जउन मनइयन क समन्वा रखत बाट्या, उ नई सिच्छा का अहइ? 20तू कछू अजूबी बात हमरे काने मँ डावत अहा, तउ हम पचे जानइ चाहित ह कि इ बातन का अरथ का अहइ?” 21हुवाँ रहत भए एथेंस क सबहिं मनइयन अउर परदेसि सिरिफ बिल्कुल नवा सुनइ या ओनही बातन क चर्चा क अलावा कउनो भी अउर बातन मँ आपन समइ न लागावत रहेन। 22तब पौलुस अरियुपगुस क समन्वा खड़ा होइके कहेस, “हे एथेंस क मनइयन, मइँ लखत हउँ कि तू पचे हर तरह स धार्मिक अहा। 23टहरत फिरत तोहार आराधना क चीजन क लखिके मोका एक अइसी वेदी भी मिली जेह पइ लिखा रहा, ‘अनबूझ परमेस्सर बरे’ तउ तू पचे बेजानिके जेकर आराधना करत बाट्या मइँ तोहका उहइ बचन क सुनावत हउँ। 24“परमेस्सर, जउऩ इ जगत क अउर इ जगत भितरे जउऩ कछू बा, ओकर रचना किहेस, उहइ धरती अउर अकास क पर्भू अहइ। उ हथवा स बनावा गवा मंदिर मँ नाहीं रहत। 25ओकरे लगे कउऩो चीजे क कमी नाहीं बा। ऍहसे मनई क हथवा स ओकर सेवा नाहीं होइ सकत। उहइ सबन क जिन्नगी, साँस अउर दूसर सब कछू देत रहत ह। 26एक ही मनई स उ मऩई क सबहिं जातिन क बनएस ताकि उ पसे समूचइ धरती प बसि जाइँ अउर उहइ मनइयन क समइ निश्चय कइ दिहेस अउर उ ठउर क जहाँ उ पचे रहइँ, चउहद्दी बाँधि दिहेस। 27“ओकर मतलब इ रहा कि मनई परमेस्सर क हेरइँ। होइ सकत ह कि उ पचे ओका ओकरे ताई पहोंचिक पाई सकइँ। ऍतना होए प भी हम सबन मँ कउनो स भी उ दूर नाहीं बा: 28काहेकि उहइ मँ हम पचे रहित ह, उहइ मँ हमारा चलब फिरब बा अउर उहइ मँ हमार थिर रहब बा! इहइ तरह खुद तोहरे ही कछू लिखवइया भी कहेन ह: ‘काहेकि हम पचे ओकर बचवा अही।’ 29“अउर काहेकि हम परमेस्सर क संतान अही। यह बरे हमका इ कबहुँ नाहीं सोचइ चाही कि उ देउता सोना या चाँदी या पाथर क बनी भइ मानुस कल्पना या कारीगरी स बनी भइ कउनो मूरत जइसी अहइ। 30अइसे अगियान क जुग क परमेस्सर धियान नाहीं दिहेस अउर अब हर कतहुँ क मनई क मनफिराव क आदेस देत बाटइ। 31उ एक दिन तय किहेस ह जब उ आपन एक मनई क जरिए जेका उ मुकईर किहेस ह निआव स दुनिया क निआव करी। मरे भएन मँ स ओका जिआइके उ हर कउनो क इ बात क परमान दिहेस ह!” 32जब उ पचे मरे भएऩ मँ स जी उठइ का बात सुनेन तउ ओहमाँ स कछू तउ ओकर हँसी हसारत करइ लागेन मुला कछू कहेन, “हम सबइ इ विसय प फिन कबहुँ तोहार प्रबचन सुनब।” 33तब पौलुस ओनका तजिके चल दिहेस। 34कछू मनइयन बिसवास कइ लिहेन अउर ओकरे संग होइ गएन। एहमाँ अरियुपगुस क निअम्बर दियुनुसियुस अउर दमरिस नाउँ क स्त्री अउर ओकरे संगे क अउर मिला भी रहेन।

will be added

X\