2 तीमà¥Âà¤¥à¤¿à¤¯à¥Âà¤¸~ 1

1पौलुस कइँती स जउन परमेस्सर क इच्छा स ईसू मसीह क प्रेरित अहइ। अउर जेका मसीह ईसू मँ जीवन पावइ क प्रतिज्ञा क प्रचार करइ के बरे भेजा गवा बा। 2पियारा बेटवा तीमुथियुस क नाउँ: परमपिता अउर हमरे पर्भू मसीह ईसू कइँती स तोहे अनुग्रह दया अउर सान्ति मिलइ। 3रात दिन आपन पराथनन मँ हमेसा तोहार याद करत भवा, मइँ ओह परमेस्सर क धन्यबाद करत हउँ, अउर ओकर सेवा अपने पूर्वजन क रीति क अनुसार सुद्ध मने स करत हउँ। 4मोरे बरे तू जउन आँसू बहाए अहा, ओकर याद कइके मइँ तोहसे मिलइ क आतुर हउँ, ताकि आनन्द स भर उठउँ! 5मोका तोहार उ सच्चा बिसवास भी याद बा जउन पहिले तोहार नानी लोइस अउर तोहर महतारी यूनीके मँ रहा। मोका भरोसा बा कि उहइ बिसवास तोहरे भी मँ बा। 6इही बरे मइँ तोहे याद देवावत हउँ कि परमेस्सर क भेट क ओह जुवाला क जलाइ राखा जउन तोहे सब क मिली रही जब तोह प मइँ आपन हाथ रखे रहेउँ। 7काहेकि परमेस्सर तउ हमका जउन आतिमा दिहे बाटइ, उ हमका कायर नाहीं बनवत बल्कि हमका सक्ती, पिरेम, अउर आतमसंयम स भरि देत ह। 8इही बरे तू हमरे पर्भू या मोर, जउन ओनके बरे बन्दी बना भवा बा, साच्छी देइ स लजा जिन। बल्कि तोहका परमेस्सर जउन सक्ति बाटइ, ओसे परमेस्सर क सक्ती दुआरा जातना झेलइ मँ मोर साथ द्या। 9उहइ हमका रच्छा किहेस अउर पवित्तर जीवन क बरे हमका बोलाए अहइ-हमार आपन ओह कीन्ह कर्मन क आधार प नाहीं, बल्कि ओकरे आपन ओह प्रयोजन अउर अनुग्रह क अनुसार जउन परमेस्सर द्वारा मसीह ईसू मँ हमका पहिले ही अनादीकाल स सऊँप दीन्ह गवा बा। 10परन्तु अब हमार बचावइवाले ईसू मसीह क परगट होइ क साथे-साथे हमरे बरे प्रकासित कीन्ह गवा बा। उ मउत क अन्त कइ दिहेस अउर जीवन अउर अमरता क सुसमाचार क द्वारा प्रकासित किहे बाटइ। 11इही सुसमाचार क फइलावइ क बरे मोका एक प्रचारक, प्रेरित अउर सिच्छक क रूप मँ नियुक्त कीन्ह गवा बा। 12अउर इहइ कारण अहइ जेहसे मइँ एन बातन क दुख उठावत अहउँ। अउर फिन भी लज्जित नाहीं हउँ काहेकि जेह प मइँ बिसवास किहे हउँ, मइँ ओका जानत हउँ अउर मइँ इ मानत हउँ कि उ मोका जउन सँऊपे अहइ, उ ओकर रच्छा करइ मँ समर्थ बाटइ जब तलक उ दिन आवइ, 13ओह अच्छी सिच्छा क जेका तू मोसे सुने अहा, ओका बिसवास अउर पिरेम मँ, जो मसीह ईसू मँ अहइ ओकर आपन आदर्स सिच्छा बनाए रहा। 14हमरे भीतर निवास करइवाली पवित्तर आतिमा क द्वारा तू उ सत्य की रच्छा करा, जउन तोहका सँउप गवा बा। 15जइसेन कि तू जानत ह कि उ सभन जउन एसिया मँ रहत हीं, मोका छोड़ ग रहेन। फुगिलुस अउर हिरमुगिनेस ओनहीं मँ स अहइँ। 16उनेसिफुरुस क परिवारे प पर्भू दया करइ। काहेकि उ कइयउ अवसरन प मोका सुख पहुँचाए रहा। अउर उ मोरे जेल मँ रहइ स सरमान नाहीं। 17बल्कि उ तउ जब रोम आवा रहा, जब तलक मोसे मिल नाहीं लिहेस, जतन स मोका निरन्तर ढूँढ़त रहा। 18पर्भू करइ ओका, ओह दिन पर्भू कइँती स दया मिलइ, ओ इफिसुस मँ मोरी तरह-तरह स जउन सेवा किहेस ह कउनो तरह स उ सेवा किहेस ओका तू अच्छी तरह स जानत अहा।

will be added

X\